loading...

मेरे गुरुर हुआ चाकना चूर

Antarvasna दोस्तों मैं अंजू 20 साल की B.A फर्स्ट इयर की स्टूडेंट हूँ। हम तीन सहेलियाँ है जो एक दूसरी  तरह से राजदार हैं। मोना, मोनिका और मैं बहुत पहले से ही अछि दोस्त हैं। हम तीनों में से मैं शुरु से ही बहुत खूबसूरत और आकर्षक थी। शुरु से ही हमारा लड़कों में बहुत … Read moreमेरे गुरुर हुआ चाकना चूर

मिस्त्री का हथौड़ा -2

फिर शायद आधा अन्दर घुसाने के बाद, वो ऊपर से हट कर अन्दर घुसाए-घुसाए ही वापस उसी पोजीशन में बैठ गया। फिर उसने लिंग को वापस खींचा, ऐसा लगा जैसे राहत मिल गई हो लेकिन यह राहत क्षणिक थी, उसने वापस एक जोरदार धक्का मारा और इस बार तीन चौथाई लिंग योनिमार्ग को भेदता हुआ … Read moreमिस्त्री का हथौड़ा -2

मिस्त्री का हथौड़ा

मेरा नाम जायरा बानो है मेरी यही कोई 24 -25 साल है, 4.6 लम्बाई, रंग साफ़, फिगर भी साधारण, 36 नंबर की ब्रा पहनती हूँ शादी हुए 4 साल हो गए, 2 साल की बेटी है। पति गवर्नमेंट नौकरी करते है | अच्छे हैं, सीधे-सादे, वैसे तो मैं बिजनौर की रहने वाली हूँ और पति … Read moreमिस्त्री का हथौड़ा

बदचलन हैं।-7

कहीं, फिर मुझे छोड़ कर चले गए आप तो ?’ ‘मर जाऊंगा ! पर अब तुम्हारा साथ नहीं छोड़ईगा।’ वह बोले, ‘कोई चाहे कुछ भी कर ले।’ अंततः मैत्रेयी मान गई। पहले वह लखनऊ से कानपुर जाना चाहती थी पर अब जब मिस्टर मेहरा खर्चा-बर्चा उठाने को तैयार थे तो तय हुआ कि बरेली चला … Read moreबदचलन हैं।-7

बदचलन हैं।-5

Chudai ki kahani, sexi kahani, अच्छा तो आप जानते थे कि वह मिस्टर मेहरा से शादी करने जा रही है तो मुझसे क्यों नहीं बताया ?’ >‘क्या बताता ? कैसे बताता ?’ वह बोला, ‘मैं आप को जानता तो था नहीं। अरे, मैं तो मिस्टर मेहरा तक को नहीं जानता था। मैत्रेयी को जानता था, उसी ने अपना … Read moreबदचलन हैं।-5

बदचलन हैं।-6

कहीं, फिर मुझे छोड़ कर चले गए आप तो ?’ ‘मर जाऊंगा ! पर अब तुम्हारा साथ नहीं छोड़ईगा।’ वह बोले, ‘कोई चाहे कुछ भी कर ले।’ अंततः मैत्रेयी मान गई। पहले वह लखनऊ से कानपुर जाना चाहती थी पर अब जब मिस्टर मेहरा खर्चा-बर्चा उठाने को तैयार थे तो तय हुआ कि बरेली चला … Read moreबदचलन हैं।-6

बदचलन हैं।-3

असल में अजय मेरी जिंदगी का ऐसा नासूर है कि मैं उस से कभी छुट्टी नहीं पा सकती।’ वह बोली, ‘जितना प्यार मैं ने उस से किया, किसी से नहीं किया, न कर पाऊंगी। पहला प्यार था न ! सो भूल भी नहीं पाऊंगी। लेकिन हकीकत यह भी है कि जितनी नफरत मैं उस से करती … Read moreबदचलन हैं।-3

बदचलन हैं।-2

नागेंद्र सोचता है और जरा आगे जा कर सोचता है कि कहीं ऐसा तो नहीं है कि मैत्रेयी के लिये नागेंद्र भी हिरन की खाल सरीखा है, और हिरन नहीं न सही, उस की खाल तो है। या कि कहीं कोई खंजड़ी बजती है तो वह व्याकुल बेसुध उस के पास भागी चली आती है। … Read moreबदचलन हैं।-2

बदचलन हैं।

Chudai ki kahani, sexi kahani, मैत्रेयी दत्ता के पिता ने दो विवाह किये थे और उन की मां ने भी। पर मैत्रेयी दत्ता ने तीन विवाह किये और तीनों ही असफल रहे। मैत्रेयी दत्ता अब कहां है, नागेंद्र नहीं जानता। लेकिन यह जरूर जानता है कि वह जहां भी कहीं होगी दुख के दरिया में … Read moreबदचलन हैं।

मिलन …तन और मन का-1

 मेरा नाम राहुल है, 4 साल पहले मैंने एम बी ए किया था। अभी हाल मैं ही मैंने एक नई कम्पनी कल्याण में ज्वाइन की। मेरी उम्र 27 साल, और मैं औरंगाबाद का रहने वाला हूँ। मैंने कम्पनी से 5 किलोमीटर दूर एक कमरा किराए पर ले लिया। मकान मालिक मुंबई में सरकारी बाबू हैं। … Read moreमिलन …तन और मन का-1