loading...

एक उंगुली उसकी स्विम सुट में से उसकी छूट में घूमने लगा

हेलो दोस्तों मेरा नाम बृजेश है और मै ग्वालियर से हूं. मै एक बार फिर से अपना एक नया और सच्ची कहानी आपके साथ ले कर आ रहा हूं. मैं अपने दोस्त के फ्रेंड को बड़ी बेहरमी से चोदा जाने कैसे मेरी जल में फस कर अपनी चूत चोद वा गई।

यह चुदाई स्टोरी करीबन 8 महीने पुरानी है. कहानी की हीरोइन का नाम है रेशमी. उसका का रंग गोरा था. उम्र 24 साल थी. उसकी हाइट 5 फुट 6 इंच थी. और फिगर 32-34-34 का था. मेरे लण्ड का साइज किसी को भी चोद के खुश कर सके इतना लंबा है. मेरा एक दोस्त फेसबुक का बहोत बड़ा कीड़ा था, और उसके अकाउंट में बहुत सारी लड़कियां एड थी. वह सब लडकियों से बात करता था और हम कई लड़कियों को मिलने भी जाते थे. ऐसे ही हम रेशमी को मिलने पहाड़ी गए हुए थे. और हम पहाड़ी पर उसका इंतजार करने लगे. थोड़ी देर में वह जब आई तो एकदम मस्त ब्यूटी लग रही थी उस ने टॉप और लेगी पहन रखी थी और गले में मंगलसूत्र था. उसको देखते ही पेंट में खड़ा होकर फुफकारने लगा . फिर हमने बातचीत की और 20 मिनट बाद वह वहां से निकल पड़े अपने अपने घर. दोस्त ने मुझे ड्रॉप कर दिया. मै रेशमी को याद करके मजे ले रहा था. उस दिन तो रात को रेशमी के नाम की मुठ मार कर सो गया. रेशमी को चोदने का रेशमी कब पूरा होगा यही सोचता रहता था. फिर मैने रेशमी को चोदने का प्लान बनाना चालू किया. पहले तो मैने भी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज दी. एक दिन बाद उसने भी फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली. अब मेरा काम ईजी हो गया था हम अक्सर पूरे दिन फेसबुक पर बातें करने लगे थे, और मुझे उसके साथ बातें करने में बहुत मजा आ रहा था, और उसे भी मुझसे बातें करना बहुत पसंद आ रहा था. करीब एक महीने तक ऐसे ही हमारी बातें हुई और अब वह मुझ पर भरोसा करने लगी थी जैसे दिन निकलते गए वैसे हमारी दोस्ती और गहरी होने लगी और मेरे साथ ज्यादा से ज्यादा टाइम चैटिंग में आने लगी. हम लोग रात को भी बातें करने लगे और धीरे धीरे अपने फोन नंबर भी एक्सचेंज कर लिए थे. हमारी फेसबुक और व्हाट्सअप पर चैटिंग हो रही थी और हमें बहुत मजा आ रहा था धीरे धीरे वह मेरे साथ उसकी सारी बातें शेयर करने लगी थी. फिर मुझे पता चला उसको एक 2 साल का बच्चा भी है और उसके हसबैंड बिजनेसमैन है और सेल्स के लिए दिनभर ग्वालियर में घूमते रहते हैं और दिन भर थकान की वजह से रात को खाना खा कर सो जाते हैं, और वह सोने के बाद हम बातें करते रहते थे. अब वह मुझ से खुल कर बात करने लगी थी उसके हस्बैंड और उसके सेक्स लाइफ पर ध्यान नहीं दे रहे थे. अब वह सेक्स करने के लिए भूखी रहती थी. अब हम इतने क्लोज हो गए थे कि अब वह मुझसे अपने हस्बैंड की जगह पर महसूस कर रही थी. उसका अकेलापन देखा नहीं जा रहा था. तो मैने उसे सेटिस्फाय करने के लिए पूछा, पहले तो उसने ठीक नहीं समझा पर जैसे ही ज्यादा दिन निकलते गये वह मुझसे ज्यादा क्लोज हो गई. अब मुजे उस का अकेलापन सेक्स चैट से नजर आ रहा था. ऐसा ही सिलसिला एक महीने तक चलता रहा. अब हम मिलने लगे थे, ग्वालियर में कई जगह पर घूमने लगे थे, साथ साथ में मूवी देखने लगे थे. मूवी के दौरान लौंज में वह मेरे साथ सोने लगी और मै उसको लिपट कर मूवी देखा करता और उसके बूब्स दबा देता. वह भी स्मूच कर देती और लण्ड की मास्टरबेट भी करती थी. अब वह मेरे लण्ड की दीवानी हो रही थी. और सामने से ही चुदाई के लिए इनवाइट करती थी पर हमें प्राइवेसी नहीं मिल रही थी. फिर एक दिन हम दोनों ने डिसाइड किया कि बदलापुर में रिसोर्ट में जाएंगे, मै वहां पर एक रिसोर्ट में ऐसी वाला रूम बुक कर दिया. अब वह दिन भी आ गया था रेशमी को चोदने का रेशमी पूरा होने वाला था. हम बदलापुर में रिसोर्ट में पहुंच गए, जाते ही हम रूम पर गए और चेंज कर के पूल में स्विमिंग के लिए निकल गए. अब हम पानी में पुरे भीग चुके थे और सेक्स की आग दोनों तरफ से लगी हुई थी. अब हम पानी में एक ही दूजे को चिपक गए. रेशमी के बॉडी की गर्मी अब मै महसूस कर पा रहा था. हमने वहीं पर एक लॉन्ग स्मूच किया और पानी में ही उसके बूब्स के ऊपर हाथ फेरने लगा और वहां मदहोश होने लग गई थी. अब मैने एक उंगली उसकी स्विम सूट में से उसकी चुत में घुमाने लगा. अब वह आउट ऑफ कंट्रोल हो रही थी पूल साइड में होने की वजह से मैने कंट्रोल किया और उसे अपने रूम में लेकर आया. और रेशमी मुज पर टूट पड़ी और मै भी पूरी तरह गर्म हो गया था. अब हमने 15 मिनट तक किस किया और एक हाथ से उसके बूब्स और दूसरे हाथ से फिंगरिंग कर रहा था. फिर मैने उसे बैड पर धक्का देकर गिरा दिया और उसका स्विमसूट निकाल दिया वह सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी पहली बार इतनी गजब की फिगर देख रहा था. देख कर आंखे फटी रह गई थी मैने उसके कपड़े जट से निकाल दिए. अब हम टाइम वेस्ट नहीं करने वाले थे. उसने भी मेरे पूरे कपड़े निकाल दिए. हम दोनों ही नंगे थे. मैने उसके ऊपर चढ़ गया और उसके बूब्स दबाते हुए चूसने लगा उसके बूब्स एकदम कोटन की तरह सॉफ्ट थे. 5 मिनट चूसने के बाद अब उसकी चुत चाटने की बारी आ गई थी. मेने उस के दोनों पैर फैला दिए, अपना मुंह उसकी चुत पर रख दिया. अब उसकी चुत में धीरे धीरे अपने जीभ से चाट रहा था, उसे गुदगुदी हो रही थी. वह मजा ले रही थी, अब उससे रहा नहीं गया, उसने मेरा मुंह उसके चुत में दबाना चालू किया. अब मै भी कहां सुनने वाला था, मैने अपनी दो उंगली चुत में डाल दी और अंदर बाहर करने लगा अब वह आहें भरने लगी और बेड पर ही उछलने लगी और मेरा साथ देने लगी. 15 मिनट तक उसकी चुत को मैने अपनि जीभ से चाटा, अब उसकी चुत अच्छी तरह से गीली हो गई थी. अब मै उठा और अपना लण्ड उसके मुंह में डाल दिया अब वह उसे लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी. 20 मिनट लण्ड को चूसने के बाद लण्ड एकदम हार्ड हो गया. वह भी लण्ड चुत में लेने के लिए रेडी हो गई थी और खुद ही लण्ड को चुत पर सेट करने लगी. मै भी अपनी पोजीशन में आया और थोड़ा धक्का दिया. लण्ड करीब 1 इंच चुत में घुसा और वह चिल्लाने लगी और बाहर निकालने लगी. लेकिन अब मै उसकी नहीं सुनने वाला था मैने उसके हाथ पकड़ लिए और वापस एक हल्का सा झटका दिया पर अब भी पूरा अंदर नहीं गया और वह तड़पने लगी थी. उस तडप से मेरी बॉडी में और तड़प बढ़ने लगी. अब मेने और धक्का मारा और लण्ड उसकी चुत में चला गया और वह तिलमिला उठी. अब मै थोड़ा रुका और उसे शांत किया और वापस धीरे धीरे धक्के मारना चालू किया. अब वह एंजॉय करने लगी और गांड उठा कर साथ देने लगी. १५-२० मिनिट तक ऐसे ही चुदाई चलती रही. उसके बूब्स दबाते दबाते पूरा लाल हो गए थे. पूरा फेस चुदाई की वजह से लाल हो गया था. एसी रुम में भी बॉडी की गर्मी की वजह से हम गीले हो गए थे. अब मै उसे डॉगी स्टाइल में चोदना चाहता था वह पट से हो गई डॉगी स्टाइल में पलट गई. अब लण्ड पीछे से उसके चुत में डालना चालू किया. पहले तो थोड़ा हार्ड लगा चुत में जाने के लिए, बाद में चुत में जाते ही मजा देने लगा. अब वह किसी कुत्तिया से भी ज्यादा चुद रही थी. अब मैने उसकी चुत से लण्ड निकाल कर उसकी गांड पर रख दिया. वह गांड मरवाने के लिए मना करने लगी. लेकिन मै कहा सुनने वाला था? मै उसके बैग से वेसेलिन निकाला और अपने लण्ड पर और उसकी गांड के होल पर लगाया और अपनी दो उंगलियों से उसकी गांड में भर दिया. अब लण्ड गांड में घुसने के लिए तैयार था. मेने लण्ड गांड पर रखा और एक हल्का सा धक्का दिया. लण्ड का सुपारा गांड में चला गया लेकिन रेशमी चिल्लाने लगी और लण्ड बाहर निकालने को कहने लगी. मैने उसके मुह को दबाया और धीरे धीरे लण्ड गांड में दबाना चालू किया. अब वह और भी चिल्लाने लगी और मेरे हाथ की वजह से चिल्ला नहीं पा रही थी. उसने मेरे हाथ को काट लिया अब मेरा लण्ड तो नहीं सुनने वाला था. लण्ड अंदर बाहर करना चालू किया पहले रेशमी को दर्द हुआ पर थोड़ी देर बाद अच्छा फील हो रहा था. अब मै जोर का झटका दिया और लण्ड पूरा गांड में चला गया. अब रेशमी को भी मजा आ रहा था. 20-25 मिनट के बाद मै झड़ने वाला था तो रेशमी ने कहा कि गांड में ही जड जाओ. थोड़ी देर के बाद मैने उसके गांड में अपना पूरा कम छोड़ दिया. अब मै और रेशमी पूरा भीग चूके थे और बेड पर गिर गए. वह मेरे लण्ड को अपने टंग से साफ करने लगी. और 5 मिनट बाद मेरे साथ आकर बेड पर सो गई. उसके चेहरे पर पहली बार इतनी खुशी देखकर मै खुश हो गया. उसने भी बताया कि उसके पति इतनी अच्छी तरह से सेक्स कभी नहीं करते, और पहली बार गांड मरवा कर वह खुश हो गई. और हम अगले एक घंटे बाद वापस अपने अपने घर निकल गए.

loading...
loading...

Leave a Comment