loading...

meri aur meri dost ki bahan ki chudai

hindi sex kahani फ्रेंड्स, मेरा नाम वरुण उर्फ़ वीरू है और मैं दिल्ली में रहता हूँ। मेरी उम्र 22 साल है, मैं एक कॉलेज स्टूडेंट हूँ और मुझे अन्तर्वासना पर सेक्सी कहानियाँ पढ़ना बहुत अच्छा लगता है। वैसे मैंने अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम को अपना बहुत समय दिया है और आज में उन्हीं सब बातों को ध्यान में रख कर अपनी कहानी सुनाने जा रहा हूँ और अगर मुझसे कोई गलती हो तो प्लीज मुझे माफ़ करना।

ये स्टोरी मेरी और मेरी कथित गर्लफ्रेंड की है.. जिस का नाम पायल (बदला हुआ नाम), जो कि मेरी बड़ी दीदी की पक्क्म पाक सहेली है। उस का हमेशा मेरे घर आना जाना रहता है। वो मुझ से बड़ी है इसलिए मैं उसे हमेशा ही दीदी कहता हूँ। एकदम माल रंग गोरा, लम्बे घने काले बाल, ऊंचा कद 5 फीट 6 इंच, फिगर तो ऐसा कामुक कि देखते ही मुँह में पानी आ जाए… आह्ह.. 36डी की चूची, 28 इच की कमर और चूतड़ 34 इंच के तो होंगे ही!

पायल ज्यादातर पूरे दिन हमारे घर पर ही रहती है.. वो और मेरी बहन एक कमरे में रहती हैं और मैं उन के साइड वाले कमरे में. हम दोनों की सिर्फ हाय हैलो और बाई तक ही बात होती थी।

एक महीने पहले दिसम्बर की बात है। एक दिन वो आई, मेरी बहन को पापा के काम से पापा के ऑफिस जा कर पैसे लाने थे। मेरे मॉम डैड दोनों बिज़नेस करते है तो ज्यादातर घर पर मैं और मेरी बहन.. हम दोनों ही होते हैं।

उसने अपने जाने की बात पायल दीदी को शायद बताई नहीं और वो घर से चली गई। थोड़ी देर बाद.. उस की सहेली पायल घर आई और उस के बारे में पूछने लगी।
जब मैंने उसे उस के जाने के बारे में बताया और उस को कहा- अगर तुम चाहो.. तो उस का वेट कर सकती हो। वैसे मैं भी अकेले बोर हो रहा हो।
वो बोली- ओके..
मैं अपने कमरे में चला गया।

उस ने मुझे आवाज़ दी और मैं बाहर आ गया।
वो- कुछ पियोगे?
मैं- दीदी आएगी तो चाय बना देगी… आप क्यों तकलीफ करती हो?
वो नॉटी स्माइल के साथ बोली- मतलब… चाय पीनी है?
मैं- एक्चुअली…
उसने पूछा- दूध कहाँ है… और बाकी सामान कहाँ है?

मैं मन में सोचता हुआ बोला- दूध तो तुम्हारा 36 वाला.. इसमें भर भर के है.. उसी को निचोड़ लो.. शुगर की जरूरत भी नहीं पड़ेगी।

वो- ओ हैलो?
मैं- ह..हाँ.. वो गैस के साइड में है।

फिर हमने साथ में लिविंग रूम में चाय पी टी वी देखते हुए.. रोमाँटिक गाने चल रहे थे।
उन दिनों ठंडी के दिन थे और ऊपर से गर्म चाय, साथ में गर्म माल भी है देखने के लिए। पहली बार उसे इतनी देर तक इतने पास से देखा।

वो- क्या देख रहे हो? टीवी देखो ना!
मैं- हाँ.. सॉरी..
वो- अच्छा.. तुम्हारी गर्लफ्रेंड क्या कह रही है.. उसी से चैट कर रहे हो ना?
मैं- नहीं दी.. ऐसे ही व्हाट्सएप में ग्रुप में मैसेज पढ़ रहा था।
वो- तो.. क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?
मैं- नहीं.. अभी तक कोई नहीं मिली।

वो- अच्छा मिल जाएगी.. मुझे तो लगता है कि तुम जिसको प्रपोज करोगे.. वो मना नहीं कर पाएगी।
मैं- अच्छा.. पक्का.. ऐसा भी क्या?
वो- हाँ!
मैं- तो आपका बॉयफ्रेंड तो होगा ही ना?
वो- नहीं रे.. किसी पर ध्यान ही नहीं दिया।
मैं- तो अब देकर देखो..

वो बुदबुदाई- सोच रही हूँ।

मैंने- क्या मतलब?
वो- कुछ नहीं..

फिर.. मैं उनके साथ कुछ फ्लर्टी बातें करने लगा.. सोचा कि अगर तीर निशाने पर लगा.. तो मस्त माल चोदने को मिलेगा।

मैं- पायल?
वो- ओह.. मिस्टर.. फ़्लर्ट करते-करते दी से डायरेक्ट पायल?
मैं- अगर प्रॉब्लम है.. तो बोल दो!
वो- नहीं.. बोलो.. क्या चाहते हो तुम?
मैं- तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो.. सच में.. बहुत दिनों से सोच रहा हूँ कि आप को बोल दूँ.. पर डरता था कि कहीं आप ‘ना’ ना कर दो।
वो- ओह.. तो ये बात है.. इसलिए इतना फ्रेंडली बिहेव हो रहा है आज!
मैं- जी..
वो- मुझे सोचना पड़ेगा.. तुम छोटे हो.. बस ये ही फरक है.. वैसे तुम लड़के अच्छे हो।
मैं- देखो पायल.. प्लीज.. अभी बता दो. मुझे चिंता लगी रहेगी।
वो- देखो.. मैं अपनी बेस्ट फ्रेंड के साथ धोखा नहीं कर सकती.. लेकिन तुम्हारे जैसे लड़के को मना भी नहीं कर सकती।

मैं उठा और उसके पास जाकर बैठ गया.. उसके हाथ पकड़े और बोल दिया- आई लव यू..
उसकी कामुकता बढ़ गई, हार्ट बीट बढ़ गए और उस की गर्म साँसें मेरे हाथों पर महसूस हो रही थीं।
मैं- प्लीज बोलो ना?
वो- ऊओक्के.. आई लव यू टू.. रोहन..
मैं- आई वांट अ हग… अ टाइट हग!
वो- तो आजा मेरा बच्चा…

बस फिर हम दोनों ने गर्म आलिंगन किया, मैं अपना हाथ उसकी पीठ के ऊपर से घुमाते हुए उसकी गर्दन तक ले आया, अपने दाएं हाथ से उसका टॉप शोल्डर से सरकाया. इतना गोरा बदन देख कर तो मेरा लंड बहुत टाइट हो गया था।
मुझे कुछ सूझ नहीं रहा था.. क्या करूँ और क्या नहीं!

वो- ओ हैलो.. हग कर रहे हो.. या कुछ और.. इरादा क्या है?
मैं- जी भर के प्यार करने का..
वो- तुम्हारी बहन आ जाएगी अभी.. मैं कल आऊँगी.. तब जो चाहो.. जितना चाहो.. उतना कर लेना.. खा जाना मुझे पूरा.. मैं भी तुम्हारे प्यार के लिए तड़प रही हूँ।
मैं- ठीक है..
और मैंने उस के होंठों पर एक सनसनी पैदा कर देने वाला कामुकता भरा चुम्बन जड़ दिया.. उस ने भी पूरा साथ दिया.. वो भी मेरी जीभ से खेलती रही।

थोड़ी देर बाद मेरी बहन आ गई। कुछ देर बाद पायल अपने घर वापस चली गई।

रात को उसका मैसेज आया- हाई हॉट.. व्हाट आर यू डूइंग? (क्या कर रहे हो?)
मैं- नथिंग.. मिसिंग यू हनी… (कुछ नहीं… तुम्हारी याद आ रही है!)
वो- अच्छा बेबी.. आई ऍम कमिंग टुमारो ना.. जस्ट वेट.. (मैं कल आ रही हूँ ना, ज़रा इंतज़ार करो!)

वो- अच्छा बताओ ना.. क्या पहन कर आऊँ तुम्हारे लिए?
मैं- वैसे तो कार से आओगी… तो मैं तुम्हें वन पीस में देखना चाहता हूँ।
वो- अच्छा.. मेरे बेबी.. अभी से मस्ती..
मैं- नहीं ऐसा कुछ नहीं है.. बस इच्छा है देखने की!
वो- अच्छा ठीक है.. और अन्दर?

मेरा तो फिर से खड़ा हो गया… मैंने कण्ट्रोल किया और फिर रिप्लाई किया- ब्लैक ब्रा और पैन्टी विद ट्रांसपेरेंसी! (काली पारदर्शी ब्रा और पैंटी)
वो- ओके बेबी.. नाउ स्लीप वेल.. एंड गुड नाईट.. हैव अ सेक्सी ड्रीम विद मी.. (ठीक है, अब सो जाओ. मेरे साथ सेक्सी सपने देखो!)
मैं- आ जाओ.. मेरे कम्बल में!
वो- देखो.. लो मैं आ गई।

बस यही सब इमेज़िन करते करते सो गया।

दूसरे दिन वो आई.. बहन को दूसरे फ्रेंड के घर पर बुलाया था और खुद इधर आ गई थी।

मैं- वो..वो.. पायल लुकिंग क्यूट इन ब्लैक.. इट सूट्स यू!( काली पोशाक में प्यारी लग रही हो!)
वो- मेरे बेबी के लिए इतना तो कर ही सकती हूँ ना!
मैं- अब ज्यादा बातें नहीं.. चलो बेडरूम तुम्हारा वेट कर रहा है।
वो- रुको मेरी जान!
मैं- नहीं..

और मैंने उसे गोद में उठाया और ऊपर बेडरूम में लेके गया.. और फेंक दिया बिस्तर पर!
वो सीधी लेटी थी… उस के गोरे गोरे चिकने पैर दिखने लगे थे मुझे.. मुझ से रहा नहीं जा रहा था और मैं उस पर टूट पड़ा।
पहले उस के पैरों से शुरू किया.. उन को चाटा और उन को किस करते हुए और उस की ड्रेस से उस के बदन को किस करते हुए उस की छाती पर आ गया और किस करने लगा। फिर.. मैं उस के गले को किस करने लगा और एक तरह से मैं उस को चाट रहा था।

वो जोर से सीत्कार कर रही थी- ओहोहोहोह जान्नऊ.. यू आर सो हॉट.. मैं कब से तुम्हें लाइक करती थी.. फाइनली.. जान आई लव यू सो मच!
उसके इतना बोलते ही.. मैंने अपने लिप्स उसके लिप्स से जोड़ दिए और उनको चूसने लगा।
मैं उसके लिप्स को ‘हॉर्स सक’ कर रहा था।
वो- ओह्ह.. धीरे.. खा जाओगे क्या.. इन्हें..? तुम्हारी ही हूँ बाबा.. आराम से करो न!

फिर मैंने उसे बिठाया और उसके वन पीस की चैन खोलनी शुरू कर दी.. साथ ही उसके शोल्डर को चाटना भी शुरू किया। वो जोर जोर से सीत्कार कर रही थी।
उसका वन पीस निकालने के बाद मैं उसे देखता ही रह गया… ब्लैक ट्रांसपेरेंट ब्रा और पैन्टी में.. वो इतनी गजब का माल दिख रही थी.. आह्ह.. क्या बताऊँ!

मैंने उसे लिटाया और फिर उसके पेट पर अपनी जीभ घुमाना चालू किया। उसको गुदगुदी होने लगी और उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगी थीं- अहह्ह ह्ह म्म्म म्म्म्म..
फिर.. मैंने उसकी जांघ को चाटना शुरू किया. इससे वो बहुत ज्यादा कामुक हो उठी.

थोड़ी देर बाद वो उठी और मुझे धक्का देकर बिस्तर पर लिटा दिया। अब वो मेरे कपड़े उतारने लगी.. धीरे-धीरे किस करते-करते जब वो नीचे आई तो बोली- ओह्ह.. हनी इतना बड़ा.. इसे लेने में मजा आएगा.. दोगे ना!
मेरा लंड 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है।
मैं- हाँ स्वीटहार्ट!

फिर उसने चूसना शुरू किया.. मुझे तो जैसे जन्नत मिल गई हो।
मैं- अहहहह.. आआआआ म्मम्म हनी.. कितना प्यारा चूसती हो.. तुम काश हमेशा ऐसे ही रहो.. मुझे भी तुम्हारी चूत को चाटना है.. प्लीज दो नाआआआ!
वो- ले लो नाआआअ.. ये बस तुम्हारी ही है।

फिर हम दोनों 69 में आ गए। मैंने एक उंगली डाल कर उस की चूत के छेद को चूसना शुरू किया.. वो ऐसे ही सीत्कार करने लगी कि मेरे मुँह में नियाग्रा फॉल आ जाएगा।
मैं- मैं छूटने वाला हूँ.. रुको मैं तुम्हारी चूत में छूटना चाहता हूँ और मुझे तुम्हारा रस पीना है।
वो बोली- ओके..

फिर उसने जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया और वो जोर से कराहने लगी- ओह्ह.. फ़ास्ट जानू.. फ़ास्ट प्लीज.. डोंट स्टॉप प्लीज..
उसने अपने हाथ से मेरा सिर पकड़ कर अन्दर घुसाना शुरू कर दिया- फ़ास्ट.. फ़ास्ट.. और भी ज्यादा फ़ास्ट.. जानू.. यस यस.. आई ऍम कमिंग.. प्लीज डोंट स्टॉप!
थोड़ी देर में उसने मेरे मुँह में अपना पूरा पानी निकाल दिया और मैं उसे पूरा चाट गया।

जो थोड़ा बहुत लगा था मुँह पर.. वो उसने अपनी जीभ से चाट कर साफ़ कर दिया।
मैं- अब नहीं रहा जाता.. प्लीज.. आई वांट टू फक यू!
वो अपनी चूत थपथपाती हुई बोली- तो आ जाओ राजाआआ.. कर लो फक..

थोड़ी देर उसने फिर से मुँह में मेरे लंड को चूसना शुरू किया।

फिर मैं बोला- मुझे तुम्हारी गांड देखते हुए चोदना है.. डॉगी स्टाइल में.. आ जाओ!
वो- ओके.. मेरी जान!

फिर मैंने अपना लंड आधा डाला तो उसकी चीख निकल गई और बोली- नहीं करना.. प्लीज इसे बाहर निकालो.. कभी और बाद में देखेंगे।
मैंने कहा- नहीं अभी करना है…
बेचारी प्यार करती थी मुझसे.. सो मान गई, दर्द सहने लगी।

मैंने दूसरा झटका मारा थोड़ा जोर से.. मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया। उसकी चूत से खून बाहर आने लगा। उसकी आँखों में आसू आ गए।
मैं चाहता तो नहीं था.. फिर भी पूछने के लिए कहा- जान.. तकलीफ ज्यादा हो रही है.. नहीं करता हूँ.. छोड़ देता हूँ.. अगर तुम चाहो.. मुझे तुम्हें ऐसे देख कर बड़ा दु:ख हो रहा है।
वो- अरे जान.. माय बेबी.. तुम मेरी इतनी केयर करते हो.. प्लीज डोंट वरी.. अपनी जान के लिए इतना दर्द तो सह ही सकती हूँ।

बस फिर मैंने शॉट मारना शुरू किया और बाद में उसे भी मजा आने लगा- अहह म्म्मम.. ऊऊऊ जानन्न न्न्न.. और जोर से करो नाआआअ.. मजा आ रहा है.. ऊऊऊओ म्म्मम्म… जान.. मैं आने वाली हूँ.. आई ऍम अबाउट टू कम.. अहहाह.. ऊऊओ.. प्लीज डोंट स्टॉप.. अहहाह.. ह्म्हम्हम्ह्म.. प्लीज डोंट स्टॉप.. हहहहह!
और वो छूट गई.. उसके जिस्म की कामुकता इतनी अधिक बढ़ चुकी थी कि वो कांपने लगी।

मैं- जान.. मैं भी छूटने वाला हूँ.. अहहह हहह.. यस यस यस.. ऊऊओहहोहो.. हग मी टाइट.. हाहाहा यस यस यस यस.. म्म्म्म म्मम्म..
और कुछ मिनट के बाद.. मैं भी छूट गया.. उसकी चूत में ही।
फिर हम दोनों साथ में नहाए.

 

आप लोग ये भी पढ़ सकते हैं.

नई नई भाभी की चुदाई

Bhabhi ki chudai aur sexy sexy bate karkar bahut maza aaya

दोनों की लुगाई

सहेली के बॉयफ्रेंड ने की मेरी पहली चुदाई

Bhabhi ki chudai aur sexy sexy bate karkar bahut maza aaya

शौहर के ठंडेपन का नतीजा

Bahan ki chudai

 

लोग अभी ये कहानियाँ पढ़ रहे हैं

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *