loading...

अपनी मौसी की चुदाई-2

Hindi sex story, hindi sex kahani, rialkahani,bhabhi ki chudai  
कैसे है आप सब कि चुचिया और लंड उमीद है मज़े से हि होनगे खैर मेरि लसत कहानि मे मैनें बताया था कि कैसे मैनें मेरि मोति मौसि को चोदा था और जब उनकोपीचे से चोद रहा था तब उनकि भारि गानद देख कर मैनें उसि वकत सोच लिया था कि उनकि गानद ज़रूर मारुनगा और उस रात मैनें 3 बार मौसि को चोदा और तब उसि हाल मे ननगे हि सो गये सुभा जब पिनकी सचूल चलि गयि तब करीब 10 बजे मेरि मौसि बेद पर आयि और मेरि सादर हता दि और मैन तब ननगा हि सोया हुअ था तब मौसि धीरे धीरे मेरे लंड को शलानें लगि और अचानक हि जोर से दबा दिया तब मैन खदबदा कर उथ गया और मौसि कि तरफ़ देखा तो देखता हि रह गया वो सिरफ़ बरा और पनती मे हि थि और मेरि तरफ़ किसि चिनाल कि तरह देख रहि थि उनका हाथ अभि भि मेरे लौदे पे था और तब मैनें कहा मौसि रात को 3 बार चोदा अभि मन नहि भरा तब मौसि हस कर बोलि कि बेता तेरि जवानि के साथ हि मुझे भि जवानि आ गयि है ऐसे जमकर चुदायि कि है कि आज तक तेरे मौसा नें भि नहि कि जबकि उनका लंड भि बहुत लमबा और शकत है तब मैनें कहा कि मौसि अब मौसा बूदे हो गये है पर जब जवान रहे होनगे तब तो तुझे खूब मज़े आते होनगे मौसि नें कहा कि चलो अब नहा लो फ़िर मैन तेरे लिये नासता बना देति हून तब मैनें कहा कि तु भि मेरे साथ नहायेगि मौसि नें कहा नहि पर मैन उनका हाथ पकद कर बाथरूम मे खीच ले गया और शोवेर खोल दियमौसि नें अपनि बरा उतार दि अब उनकि बदि।।।।
बदि दूध से भरि चुचिया लतक गयि और मैन अपनें हाथ से दबानें लगा तब वो अपनें हाथ को मेरे लंड पे ले गयि और जोर से मसल दिया तब मैनें कहा कि मौसि इसे साबुन लगा कर मलो और फ़िर मौसि मेरे लंड पे साबुन मलनें लगि और थोदि देर मे हि धेर सारा झाग बन गया तब मौसि नें कहा कि बेता तु भि तो मेरि चूत को साफ़ कर तब मैनें भि साबुन उत्तहा कर उनकि चूत पर रगदना सुरु किया और धोदि देर मे हि उनकि चूत भि झाग से भर गयि तब वो बोलि कि बेता अब अपना झाग से भरा हुअ लंड मेरि बुर मे थास दो मैन हसनें लगा कयोनकि मेरा इरादा तो कुच और हि था मैनें कहा कि अभि थोदा और मज़ा लो मौसि और उनकि चूचि को मुह मे भरकर चूसनें लगा उनकि चूचि चूसनें मे मुझे बहुत मज़ा आता था कयोनकि मेरि मुम्मी और सिस कि चूसि चोति चोति थि पर मौसि कि चूचि बहुत बदे।।।बदि थि और फ़िर मैन अपनें हाथ को पीचे से उनकि गानद पर ले गया और शलानें लगा और धीरे।।।।।

धीरे अपनि एक उनगलि उनकि गानद मे दाल दि तब मौसि उचक पदि और बोलि कि बेता कया इरादा हैन कहिन मेरि गानद तोनहि मारनि है ना? तब मैनें कहा कि मौसि आप सहि सोच रहि है मैन आपकि गानद हि मारना साहता हून तब मौसि नें हाथ जोदकर कहा कि नहि बेता मुझ पे दया करो मैनें आज तक कभि गानद नहि मरवायि है और तुमहारा लंड भि बहुत लमबा है मैन गानद नहि मरवाउनगि तब मैनें कहा सालि रनदि नखरे करति है सीधे।।।सीधे मरवा ले नहि तो ज़बरदसति थास दूनगा पूरा लंड एक हि बार मे और वो भि बिना तेल साबुन लगाय तब मौसि थनदि पद गयि उनहे मेरे इस रूप कि उमीद नहि थि फ़िर बोलि कि अस्सहा तुम अपनि उनगलि मेरि गानद मे दाल देना मैनें कहा थीक है पर मन मे तो कुच और हि था पर मैनें जाहिर नहि किया और उनकि गानद पे अपना हाथ ले जकर शलानें लगा
और फ़िर उसे चूमनें लगा और कभि ।।।कभि दानत भि कात लेता फ़िर मैनें साबुन उथा कर उनकि गानद पर बहुत सारा झाग बनाया और उनकि गानद मे धीरे ।।।धीरे अपनि उनगलि अनदर बहर करनें लगा अब मौसि आआआह्हह्हह्हह आआआआअह्हह्हह कर रहि थि तब हि मैनें अपनें लंड पे भि साबुन लगाया और मौसि गानद पे तिका कर घिसनें लगा और धीरे से धक्का मारा मौसि कि चीख निकल पदि आआआअह्हह्हह्हह्ह मर गयीईईई राआअम्मम्मम्म ऊऊऊफ़्फ़फ़्फ़ बहर कर लको बेता बहुत दरद हो रहा है तब मैनें कहा कि मौसि अभि आपको बहुत मज़ा आयेगा और एक करारा धक्का मारा और मौसि कराह पदि आआआअह्हह्हह्हह माअर दाल ज़ालिम स्सले कया आज मार दालेगा कया भोसदि के इतना सुनकर मुझे बहुत जोश आ गया और मैनें उनकि गानद मे अपनि पूरि गानद से जोर लगा कर धका मारनें लगा थोदि देर बाद मौसि को मज़ा आनें लगा और फ़िर वो झद गयि
मैनें अपनि मोति मौसि कि गानद मारि थि और अब तो एक हफ़तेन मे उसकि चूत को भोसदा बना दाला था और कै बार गानद भि मार चुका था अब मेरा मन उस्से भर चुका था पर मौसि कि चूत कि आग थनदि हि नहि होति थि एक दिन मैनें पिनकी को सचूलदरेस्स मे देखा तो देखता हि रह गया उसनें चोति सि सकिरत पहन रखि थि जो उसके घुतनो के काफ़ि उपर थि जिसमे से उसकि चिकनि।।।चिकनि और गोरि तानगेय नज़र आ रहि थि और सकिरत के उपर उसकि तोप से उसकि चूचि कि चोति सि घुनदि नज़र आ रहि थि तब मेरा मन एक दुम से अपनि पयारि भानजि पर दोल गया और मैनें उस वकत तोसिरफ़ उसके गाल पर हाथ हि फ़ेर कर अपना काम चला लिया और रात को जब मौसि अपनि ननगि चूत लेकर मेरे पास आयि तब मैनें कोइ रेसपोनसे नहि दिया और बहुत देर तक वो मुझे रिझाति रहि पर आखिर मे तख कर बोलि कि बेता रजेश कया बात है?
तब मैनें कहा कि मौसि आज किसि तिघत बुर वालि को चोदनें का बहुत मन कर रहा है तब मौसि नें कहा कि मेरि हि गानद को बुर समझ कर मार लो तब मैन हसनें लगा और उनकि गानद जम कर मारि उनकि चीखे निकल गयि उसके बाद मैनें कहा कि मन अभि भि किसि कुनवारि चूत मारनें का हि कर रहा है अब कया करून? तबव मौसि नें कहा कि बेता मेरे पदोस मे कोइ भि कमसिन लदकि नहि रहति वरना मैन तेरा काम ज़रूर बनवा देति तब मैनें झिझकते हुए कहा कि मौसि पिनकी तो है तब मौसि नें मुझे दानत दिया और भदकनें लगि तब मैनें कहा साअलि जयादा नखरे ना कर मुझसे चुदवाति है और गानद मरवाति है तो लदकि को भि चुदवा दे सारि उमर आपका एहसान नहि भूलुनगा और आप जब भि कहोगि आपकि सेवा मे हाजिर रहुनगा और यहि नहि मैन अपनें दोसतोन को भि आपकि चूत मारनें कि दावत दूनगा आपकि लिफ़े मज़े से बीतेगि मेरे कै दोसत है जनहे भारि चुतद और बदे।।।।
बदि चूचियोन वालि औरतेन पसनद है तब मौसि थोदा नोरमल हो गयि फिर बोलि कि बेता पिनकी अभि बछि है अभि उसकि अगे हि कया है सिरफ़ 14 साल चूत फ़त जायेगि उसकि और तुमहारा लंड भि तो इतना लमबा है तब मैनें कहा मौसि मैनें अपना पूरा लंड उसकि चूत मे नहि दालुनगा बस थोदा सा दालुनगा और चूचि का मज़ा लेकर काम चला लूनगा तब मौसि नें कहा साले तेरि बात का कोइ भरोसा नहि कहिन अपना पूरा लंड मेरि बेति कि चूत मे दाल दिया तो बेचारि मर हि जायेगि तब मैनें कहा कि अगर आपको यकीन नहि तो आप भि साथ मे रहना और फ़िर आखिर मे वो राज़ि हो हि गयि और कहा कि आज तो तुम मुजसे हि काम चलाओ कल मैन तुमहारे लिये पिनकी को तययार कर दूनगि और फ़िर मेरे लंड को मुह मे भर कर चूसनें लगि जिस्से मेरा लंड पूरि औकात मे आ गया तब मैनें मौसि से कहा कि आप इतनें दिन से मुझे नीचे से चोदनें को ख रहि है आज आपकि बेति कि सील तोदनें कि बात पर मैन आज आपको पूरि चूत देता हून साहे जिस तरह से मेरे लंड से चुदवाओ तब मौसि मुझे ज़मनीन पर लिता कर मेरे उपर आ गयि और मेरि जान निकल गयि उनका वजन काफ़ि था और जब वो धपा

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *